MUTUAL FUND UNITS को डीमैट कैसे करें :

निवेशक अपने MUTUAL FUND UNITS को डीमैट में भी रख सकते हैं | जैसे शेयर्स को डी-मेट अकाउंट में रखा जाता है ठीक उसी तरह म्यूच्यूअल फंड् यूनिट्स, और बांड्स को भी डीमेट फॉर्म में रखा जा सकता है | किसी भी निवेशक को अपने म्यूच्यूअल फण्ड यूनिट्स को डीमेट फॉर्म में बदलने के लिए डिपाजिटरी पार्टिसिपेंट के साथ डीमैट अकाउंट खोलना होता है | हमारे देश में दो डिपाजिटरी हैं सेंट्रल डिपाजिटरी सर्विसेज लिमिटेड और नेशनल सिक्योरिटीज डिपाजिटरी लिमिटेड आप इन दोनों में से किसी एक डिपाजिटरी का चुनाव कर सकते हैं | यदि आप शेयर्स में डील करते हैं तो आपके पास डीमैट खाता अवश्य होगा | उसी खाते में आप अपने म्यूच्यूअल फण्ड यूनिट्स और बांड्स भी रख सकते हैं |

mutual fund units को demat कैसे करें

MUTUAL FUND UNITS को डीमैट कराने के लिए फॉर्म कैसे प्राप्त करें :

सर्वप्रथम आपका डीमैट खाता किस डिपाजिटरी के पास है NSDL या CDSL.

NSDL खाताधारक CRF FORM भरें :

यदि आपका खाता NSDL यानि नेशनल सिक्योरिटीज डिपाजिटरी लिमिटेड के पास है तो आपको कन्वर्जन रिक्वेस्ट फॉर्म(CONVERSION REQUEST FORM) यानि CRF फॉर्म भरना होता है | यह फॉर्म डिपाजिटरी पार्टिसिपेंट या जिस भी शेयर ब्रोकर के पास आपका खाता है उससे ले सकते हैं |

CDSL खाताधारक DRF FORM भरें :

यदि आपका खाता CDSL यानि सेंट्रल डिपाजिटरी सर्विसेज लिमिटेड के पास है तो आपको DRF यानि डीमैटीरियलाइजेशन रिक्वेस्ट फॉर्म (DEMATERIALISATION REQUEST FORMको भरना होता है | आप यह फॉर्म अपने ब्रोकर या DP से प्राप्त कर सकते हैं |

जरुरी विवरण :

फॉर्म में कुछ आवश्यक जानकारी भरनी होती है जो निम्नलिखित इस प्रकार है :

  • सर्वप्रथम निवेशक को डीपी आईडी और क्लाइंट आईडी का विवरण भरना होता है |
  • धारकों का नाम
  • म्यूच्यूअल फण्ड इन्वेस्टमेंट का फोलियो नंबर
  • ISIN नंबर
  • इकाइयों की संख्या |

फॉर्म को सबमिट करें :

ऊपर दिए गये विवरण को उस फॉर्म में भरना होता है उसके बाद फॉर्म को सभी खाताधारकों द्वारा हस्ताक्षरित किया जाता है और फॉर्म को दस्तावेजों के साथ डिपाजिटरी पार्टिसिपेंट के पास जमा कर दिया जाता है | वेरिफिकेशन करने के बाद डीपी फॉर्म को एएमसी/आरटीए के पास भेज देता है | एएमसी/आरटीए द्वारा कन्वर्जन रिक्वेस्ट की पुष्टि के बाद निवेशक के डीमैट खाते में म्यूच्यूअल फण्ड यूनिट्स को जमा कर दिया जाता है |

नये निवेश के लिए :

नये निवेश के मामले में निवेशक को म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करते समय इन्वेस्टर ऐप्लिकेशन फॉर्म  में अपने डीमैट की डिटेल यानि डीपी आईडी और क्लाइंट आईडी भरना होता है |

कुछ जरुरी ध्यान देने योग्य बातें :
  • म्यूच्यूअल फण्ड यूनिट्स को डीमैट खाते में परिवर्तित करने के लिए डीमैट खाते और म्यूचुअल फंड फोलीओ में होल्डिंग पैटर्न एक सा होना चाहिए।
  • लॉक इन और फ्री यूनिट्स के लिए अलग फॉर्म भरने की जरुरत होती है |
MUTUAL FUND UNITS को डीमैट फॉर्म में रखने के लाभ :
  • म्यूच्यूअल फण्ड यूनिट्स को डीमैट फॉर्म में रखने का सबसे बड़ा फायदा आपकी सभी निवेश(जैसे- शेयर्स,बांड,डिबेंचर और म्यूच्यूअल फण्ड यूनिट्स)  एक स्थान पर उपलब्ध हो जाते हैं |
  • MUTUAL FUND UNITS को इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म में खरीदना और बेचना बेहद आसान होता है |
  • आप अपने पोर्टफोलियो को एक झलक में ट्रैक कर सकते हैं |
  • म्यूच्यूअल फण्ड यूनिट्स को बेचने में आसानी होती है |
  • इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म में म्यूच्यूअल फण्ड यूनिट्स सुरक्षित |

दोस्तो आशा करते हैं कि आपको म्यूच्यूअल फण्ड को DEMAT कैसे करें के बारे में पर्याप्त जानकारी प्राप्त हुई होगी | यदि आप हमें कमेंट करना चाहते हैं तो निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में अवश्य लिखें |

यह भी पढ़ें :

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!